Surface Chemistry- पृष्ठ रसायन| Class 12 chemistry chapter 5|Bihar Board 2024-Alok Official

🙏नमस्ते

जय हिंद 🇮🇳

कैसे हैं आप ? शानदार । बहुत ही मजे ले रहे हो आप

पढ़ाई में ये आपका वेबसाइट के प्रति प्यार से दिख

रहा है । इस वेबसाइट को हर छात्र तक पहुँचाना

हमारा और आपका दायित्व है । इससे सबके पास

Quality शिक्षा पहुँचेगा । अब कोई भी शिक्षा से

वंचित नहीं रहेगा । इस क्षेत्र में हमारा प्रयास पूर्ण रूप

से है ।

Surface chemistry class 12 chemistry chapter 5
Surface Chemistry

Inter Chemistry chapter-5: Surface Chemistry- पृष्ठ रसायन

Table of Content


1.Important topics


2.Objetive question answer


3.Short answer question


4.Long answer question

सबसे पहले जिस अध्याय के लिए content

बनाया जायेगा उसका महत्वपूर्ण टॉपिक रहेगा ।

यह इसलिए रहेगा कि कम समय में आप पूरे अध्याय

को बेहतर तरीके से पढ़ सके, revise कर सके ।

फिर ऑब्जेक्टिव,लघु उत्तरीय और bदीर्घ उत्तरीय प्रश्न

उत्तर को बताया जायेगा । जिसमें पहले पूर्व वर्ष का

प्रश्न उत्तर फिर आगामी वर्ष के लिए सभी संभावित

प्रश्न उत्तर होगा । अधिकांश प्रश्न-उत्तर परीक्षा में

यही से आने वाला है , इसलिए आप सारा कंटेंट पढ़

के परीक्षा देने जाएं । सभी अध्याय का इससे आसान

भाषा में और कहीं मुश्किल है ।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

1) Important Topics of surface chemistry

1) अधिशोषण(Adsorption):

ठोस सतह पर अणु या परमाणु के चिपकने की प्रक्रिया को

अधिशोषण कहा जाता है ।

या ,

जब गैस या द्रव के अणु या परमाणु ठोस सतह पर

चिपकता है उसे अधिशोषण कहते हैं ।

✳️ यह सतह पर होने वाली प्रक्रिया है ।

ठोस पर गैस के अधिशोषण को निम्न कारक
प्रभावित करता है –

i) अधिशोषण का enthalpy

ii) अधिशोषक का प्रकृति

iii) गैस की प्रकृति

iv) अधिशोषक का सक्रियण

v) आण्विक स्तर की प्रकृति

✳️ यह दो प्रकार का होता है-

i) भौतिक अधिशोषण (physical adsorption/physisorption) :

🔥 यह वांडर बल द्वारा होता है ।

🔥 यह प्रकृति में विशिष्ट नहीं होता है ।

🔥 यह प्रतिवर्ती (reversible) होता है ।

🔥 इसमें बहुत कम सक्रियण ऊर्जा लगता है ।

ii) रासायनिक अधिशोषण (chemical adsorption/chemisorption) :

🔥 यह रासायनिक बंधन के कारण होता है ।

🔥 यह प्रकृति में विशिष्ट होता है ।

🔥 यह अप्रतिवर्ती (irreversible) होता है ।

🔥 इसमें बहुत अधिक सक्रियण ऊर्जा लगता है ।

2) अवशोषण (Absorption):

यह वह घटना है जिसके परिणामस्वरूप एक पदार्थ

दूसरे पदार्थ के कुल आयतन में समान रूप से वितरित

हो जाता है ।

• पूरी सामग्री में सांद्रण (concentration)समान है।
3) उत्प्रेरक (Catalyst) :

🎯 Zeolites:

यह अच्छे आकार वाले चयनात्मक उत्प्रेरक है । यह
जटिल सिलिकेट होता है जिसमें कुछ Si⁴⁺ आयन को

Al³⁺ आयन द्वारा प्रतिस्थापित कर दिया जाता है ।

इसका आकार मधुमक्खी का छत्ता के जैसा होता है ।

4) अधिशोषण समतापी (Adsorption Isotherm) :

स्थिर ताप पर दाब के साथ अधिशोषक द्वारा अधिशोषित

गैस की मात्रा में परिवर्तन को अधिशोषण समतापी कहलाने

वाले वक्र के माध्यम से व्यक्त किया जाता है ।

✳️ अधिशोषण समतापी दो प्रकार के होते हैं;

(i) फ्रायंडलिच अधिशोषण समतापी

(ii) लैंगमुइर अधिशोषण समतापी

5) स्वर्ण संख्या (Gold No.) :

सुरक्षात्मक कोलाइड के मिलीग्राम की संख्या जिसे दिए गए
सोने के सोल के 10 ml में जोड़ा जाना चाहिए ताकि 10%

NaCl समाधान के 1 ml को जोड़कर इसे जमावट से रोका

जा सके ।
🔥 सोने की संख्या जितनी छोटी होगी, लियोफिलिक

कोलाइड्स की सुरक्षा शक्ति उतनी ही अधिक होगी।

6) टिंडल प्रभाव ( Tyndall Effect) :

जब प्रकाश किरणपुंज को कोलॉइडी विलयन से गुजारते

हैं तो उसका प्रकीर्णन(scattering) हो जाता है, इसी

प्रभाव को टिंडल प्रभाव कहा जाता है । कोलॉइडी विलयन

में प्रकाश की प्रकीर्णन को टिंडल द्वारा देखा गया इसी

कारण इसका नाम टिंडल प्रभाव पड़ा ।

7) हार्डी शुल्ज़ नियम (Hardy Schulze Rule) :

हार्डी शुल्ज़ नियम के अनुसार, इलेक्ट्रोलाइट की स्कंदन शक्ति

सक्रिय आयनों पर आवेश के परिमाण के समानुपाती होती है।

8) पेप्टीकरण (peptisation) :

वह प्रक्रिया जिससे नया बना अवक्षेप कभी-कभी कोलॉइडी

विलयन में परिवर्तित हो जाता है, पेप्टीकरण कहा जाता है ।

9) डायलिसिस (dialysis) :

यह कोलॉइडी विलयन को शुद्ध करने की एक विधि है ।

इसमें झिल्ली(membrane) की सहायता से विसरण

(diffusion) विधि द्वारा कोलॉइडी विलयन से अशुद्ध

पदार्थ को बाहर निकाला जाता है ।

10) कोलॉइड (colloid) :

वैसे पदार्थ जिसको आसानी से क्रिस्टल के रूप में नहीं

प्राप्त किया जा सकता है, कोलॉइड कहा जाता है ।

11) वैधुतकण संचलन (Electrophoresis) :

विधुत क्षेत्र के प्रभाव से कोलॉइडी कण के गति को को

वैधुतकण संचलन कहते हैं । यह कोलॉइड पर उपस्थित

धनायन या ऋणायन के कारण होता है ।

12) जमावट (Coagulation/ Flocculation):

कोलॉइडी विलयन का अवक्षेप में बदलने की प्रक्रिया को

coagulation कहा जाता है । कोलॉइडी कण पर समान

आवेश होने के कारण कोलॉइडी विलयन स्थिर रहता है ।

लेकिन जब आवेशहीन (neutral) किया जाता है तो

वह अवक्षेपित हो जाता है ।

13) साबुन और अपमार्जक (soap 🧼 and detergent) :

साबुन:
अपमार्जक:

ठोस अवस्था विलयन विधुत रसायन विधुत बलगतिकी
click here click here click here click here

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Objetive question answer of surface chemistry

1) इनमें से कौन लायोफिलिक कोलाइड है ?

a) दूध 🥛

b) गोंद (gum)

c) रक्त (blood🩸)

d) कोहरा (fog)
उत्तर: b
2) रासायनिक अधिशोषण (chemical adsorption) में कितना सतह होता है ?

a) 2

b) बहुत

c) शून्य

d) 1
उत्तर: d
3) निम्न में से किसमें स्वर्ण संख्या (Gold No.) कम
होता है ?

a) जिलेटिन

b) स्टार्च

c) गोंद

d) अंडा का एल्बुमिन 🥚
उत्तर: a
4) अधिशोषण के लिए इनमें से कौन सही है ?

a) ∆ G < 0

b) ∆ H < 0

c) ∆ H > 0

d) ∆ S < 0
उत्तर: c
5) भौतिक अधिशोषण क्या करने से बढ़ता है ?

a) ताप बढ़ाने से

b) ताप घटाने से

c) सतह का क्षेत्रफल घटाने से

d) दाब घटाने से
उत्तर: b
6) निम्न में से कौन टिंडल प्रभाव नहीं दिखाता है ?

a) चीनी का घोल

b) इमल्सन

c) सोना का घोल

d) ससपेंशन
उत्तर: a
7) क्रोमैटोग्राफी किस पर आधारित होता है ?

a) हाईड्रोजन बंधन( hydrogen bonding)

b) भौतिक अधिशोषण

c) टिंडल प्रभाव

d) रासायनिक अधिशोषण
उत्तर: d
8) निम्न में से कौन हाईड्रोफोबिक कोलाइड है ?

a) सल्फर

b) जिलेटिन

c) स्टार्च

d) गोंद
उत्तर: a
9) यदि dispersion phase द्रव है और और dispersion माध्यम ठोस है तो वह कौन सा कोलाइड है ?

a) फोम

b) इमल्सन

c) जेल

d) सोल
उत्तर: c
10) विधुत क्षेत्र में कोलाइडी कणों की गति को
क्या कहा जाता है ?

a) अपोहन

b) वैधुतकण संचलन (electrophoresis)

c) वैधुतीय अपोहन

d) विधुत चुम्बकीय प्रेरण
उत्तर: b
11) कोहरा किस कोलॉइडी का उदाहरण है ?

a) द्रव और द्रव का

b) द्रव में गैस का

c) द्रव में ठोस का

d) गैस में द्रव का
उत्तर: d
12) अधिशोषण में साम्यावस्था की स्थिति में निम्न में से
कौन सही है ?

a) ∆ H > T∆S

b) ∆H = T∆S

c) ∆ H < T∆S

d) ∆ H > 0
उत्तर: b
13) फ्रेंडलिक अधिशोषण समतापी में 1/n का मान
कितना होता है ?

a) हमेशा 2 और 3 के बीच

b) भौतिक अधिशोषण के लिए 1

c) हमेशा 0 और 1 के बीच

d) रासायनिक अधिशोषण के लिए 1
उत्तर: c
14) विषम उत्प्रेरण (heterogenous catalysis) के लिए सबसे बेहतर स्थिति कौन है ?

a) अधिशोषण (adsorption)

b) विसरण (diffusion)

c) अवशोषण (absorption)

d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर: a
15) नया बना अवक्षेप कभी-कभी कोलॉइडी विलयन में
परिवर्तित हो जाता है, यह किसके द्वारा होता है ?

a) विसरण

b) electrolysis

c) पेप्टीकरण (peptisation)

d) जमावट (coagulation)
उत्तर: c

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Short answer question of surface chemistry

1) टिंडल प्रभाव ( Tyndall Effect) क्या है ?
उत्तर: जब प्रकाश किरणपुंज को कोलॉइडी विलयन से

गुजारते हैं तो उसका प्रकीर्णन (scattering) हो जाता है,

इसी प्रभाव को टिंडल प्रभाव कहा जाता है । कोलॉइडी

विलयन में प्रकाश की प्रकीर्णन को टिंडल द्वारा देखा गया

इसी कारण इसका नाम टिंडल प्रभाव पड़ा ।
2) भौतिक अधिशोषण और रासायनिक अधिशोषण में
अंतर स्पष्ट करें ।
उत्तर: भौतिक अधिशोषण और रासायनिक अधिशोषण में

निम्न अंतर है-
भौतिक अधिशोषण:

🔥 यह वांडर बल द्वारा होता है ।

🔥 यह प्रकृति में विशिष्ट नहीं होता है ।

🔥 यह प्रतिवर्ती (reversible) होता है ।

🔥 इसमें बहुत कम सक्रियण ऊर्जा लगता है ।
रासायनिक अधिशोषण:

🔥 यह रासायनिक बंधन के कारण होता है ।

🔥 यह प्रकृति में विशिष्ट होता है ।

🔥 यह अप्रतिवर्ती (irreversible) होता है ।

🔥 इसमें बहुत अधिक सक्रियण ऊर्जा लगता है ।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Long answer question of surface chemistry

1) फ्रेंडलिक अधिशोषण समतापी वक्र का विश्लेषण
करें ।
उत्तर: फ्रेंडलिक ने अधिशोषित गैस की मात्रा प्रति इकाई

अधिशोषक ठोस के द्रव्यमान और विशेष ताप पर दाब

के बीच एक संबंध स्थापित किया जिसे फ्रेंडलिक अधिशोषण

समतापी के नाम से जाना जाता है । जो कि संबंध का

समीकरण निम्न है-

x/m= k.p¹/n ( जहाँ n हमेशा 1 से बड़ा है )
2) रासायनिक अधिशोषण में अधिशोषण पहले बढ़ता है
फिर घटता है क्यों ?
उत्तर: रासायनिक अधिशोषण में पहले अधिशोषण बढ़ता है

और फिर घटता है । इसके निम्नलिखित कारण हैं-

a) इसमें अधिशोषण की मोलर तापीय मान (molar

enthalpy) का मान उच्च होता है ।

b) इसमें उच्चदाब पर अधिशोषण की मात्रा अधिक होती है ।

c) यह प्रक्रिया अनुत्क्रमणीय होती है । इसमें अधिशोषण की

मात्रा एक निश्चित ताप पर बढ़ती है फिर घटती है ।

d) इस प्रक्रिया में रासायनिक अभिक्रिया होती है। अतः

अधिशोषित गैस की अवस्था पिण्ड वाले गैस से भिन्न होती है ।

e) इसमें आण्विक स्तर का निर्माण होता है ।
3) अधिशोषण समदाबी (adsorption isobars) क्या
है ?

[youtube https://www.youtube.com/watch?v=pocQsepyrGg]
Keywords

🔎inter chemistry bihar board 2024

🔎 surface chemistry bihar board 2024

🔎 chemistry model question answer bihar board 2024

🔎model paper bihar board 204

🔎 इंटर रसायनशास्त्र बिहार बोर्ड 2024

🔎 vvi question answer bihar board 2024

🔎 inter chemistry in hindi bihar board 2024

❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️

इस वेबसाइट 🕸 पर class 10 और class 12 का

पुरा कंटेंट latest exam pattern पर उपलब्ध है ।

आपके वार्षिक परीक्षा में 80% से ऊपर प्रश्न इसी

वेबसाइट से आने वाला है । आप जितना अधिक समय

यहाँ बिताओगे उतना फायदा में रहोगे । कंटेंट पढ़ के

बढ़िया लग रहा है तो इसका थोड़ा फायदा अपने दोस्त,

यार रिश्तेदार को भी दो ।

✌धन्यवाद✌

❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤❤

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Verified by MonsterInsights