Resources and development| geography Class 10 | Bihar board

Geography class 10 | Resources and development | Bihar Board 2024

नमस्ते🙏

जय हिंद 🇮🇳

इस भाग में दसवीं के सामाजिक

विज्ञान के अंतर्गत आने वाले विषय

भूगोल का विश्लेषण करेंगें । इस विषय

में कुल 7 अध्याय है जिसे Alok Official

के द्वारा परीक्षा से 2 महिना पूर्व पुरा कर

दिया जायेगा । संसाधन और विकास का

चर्चा हम इस खंड में करेंगे, वैसे तो आपने

थोड़ा बहुत आठवीं के भूगोल में पढ़ा ही

होगा, उसी का विस्तार में बात करेंगें ।

Matric geography chapter 1 resources and development, types of resources, resources on the basis of origin, development, rights, exhaustibiltiy, use of resources, water resources, soil resources, types of soil, soil erosion, soil conservation, water conservation, biotic resources, abiotic resources, renewable resources, non renewable resources, individual resources, community resources, national resources, international resources, conservation of resources, sustainable development
Resources and development
Table of Content:
a) अध्याय के अंतर्गत महत्वपूर्ण टॉपिक
b) ऑब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर
c) लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर
d) दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर

सबसे पहले जिस अध्याय के लिए

content बनाया जायेगा उसका

महत्वपूर्ण टॉपिक रहेगा । यह इसलिए

रहेगा कि कम समय में आप पूरे अध्याय

को बेहतर तरीके से पढ़ सके, revise

कर सके । फिर ऑब्जेक्टिव,लघु उत्तरीय

और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर को

बताया जायेगा ।

जिसमें पहले पूर्व वर्ष का प्रश्न उत्तर फिर

आगामी वर्ष के लिए सभी संभावित प्रश्न

उत्तर होगा ।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

अध्याय के अंतर्गत महत्वपूर्ण टॉपिक

1) संसाधन(resources) :

हमारे आस-पास के सभी

वस्तु जिसका उपयोग हम अपने जरुरत

में कर सकतें हैं,और जो तकनीक से प्राप्त

करने योग्य, सस्ता और समाजिक रूप

से स्वीकृत हो , संसाधन कहा जाता है ।

2) संसाधन के प्रकार(types of resources) :

संसाधन को चार आधार पर विभाजित

किया जाता है ।

a) उत्पत्ति के आधार पर

जैविक- वह संसाधन जिसमें जीवन

होता है अर्थात् जो सजीव होता है, जैविक

संसाधन कहा जाता है । जैसे- पेड़-पौधा,

जीव-जन्तु, मनुष्य इत्यादि ।

अजैविक- वह संसाधन जिसमें जीवन

नहीं होता है अर्थात् जो निर्जीव होता है,

उसे अजैविक संसाधन कहते हैं । जैसे-

चट्टान, धातु, पेट्रोलियम इत्यादि ।

b) समाप्ति के आधार पर

नवीकरणीय संसाधन- वह संसाधन

जिसे कम समय में दुबारा निर्माण किया

जा सकता है, नवीकरणीय संसाधन

कहलाता है । जैसे- सौर ऊर्जा, विधुत

ऊर्जा, जल ऊर्जा,वन इत्यादि ।

अनवीकरणीय संसाधन- वह संसाधन

जिसे दुबारा निर्माण करने में हजारों-

लाखों वर्ष लग जाता है, अनवीकरणीय

संसाधन कहा जाता है । जैसे- जीवाश्म

ईंधन(कोयला, पेट्रोलियम, धातु)

c) अधिकार के आधार पर

व्यक्तिगत- वह संसाधन जिसपे किसी

खास व्यक्ति का स्वामित्व (अधिकार)

होता है, व्यक्तिगत संसाधन कहलाता है ।

जैसे- अपना घर, तालाब, खेत कुआँ इत्यादि ।

सामुदायिक- वह संसाधन जिसका स्वामित्व

समाज के सभी वर्गों को हाथ में होता है,

सामुदायिक संसाधन कहलाता है । जैसे-

मंदिर, ग्रामीण तालाब, कुआँ इत्यादि ।

राष्ट्रीय- वह संसाधन जिसका स्वामित्व

देश के पास होता है । जैसे- देश के अंदर

मिलने वाला खनिज, जल संसाधन, वन,

वन्य जीव, जमीन और समुद्र तट से 22.2

किलोमीटर तक का क्षेत्र ।

अन्तर्राष्ट्रीय- वह संसाधन जिसका स्वामित्व

एक से ज्यादा देशों के पास होता है, उसे

अन्तर्राष्ट्रीय संसाधन कहते हैं अर्थात् वह

संसाधन जिसे अंतर्राष्ट्रीय संगठन नियंत्रित

करता है, अंतर्राष्ट्रीय संसाधन कहा जाता है ।

d) विकास के आधार पर

स्थितिज- वह संसाधन जो उपलब्ध है लेकिन उसका

उपयोग नहीं किया जा रहा हो, स्थितिज संसाधन

कहा जाता है । जैसे- गुजरात और राजस्थान में

पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा का विकास संभव है

लेकिन नहीं किया जा रहा है ।

विकसित

reserves

3) संसाधन संरक्षण:

a) Global Earth Summit- वर्ष

1992 में लगभग 100 देश के भागीदारी

के साथ ब्राजील के रियो डी जेनेरियो में

हुआ । जिसका मुख्य उद्धेश्य था 21वीं

शताब्दी में संसाधन को हानि पहुँचाए बिना

विकास के कार्य को जारी रखना ।

4) मृदा संसाधन(soil conservation) :

मृदा के निर्माण में जलवायु,

समय, वनस्पति इत्यादि महत्वपूर्ण भूमिका

निभाता है ।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

5) मृदा का प्रकार(types of soil) :

a) जलोढ़ मृदा– गंगा, ब्रह्मपुत्र और सिंध नदी द्वारा

लायी गयी मृदा

* पुराने जलोढ़ को बांगर कहते हैं

* नये जलोढ़ को खादर कहते हैं

* पोटाश, फॉस्फोरस और चुना का अधिकता

* धान, गेहूँ, मक्का, अनाज और दाल के लिए उपयुक्त

* बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात

b) काली मृदा(⚫ black soil)

* इसे रेगुर मृदा भी कहा जाता है

* cotton के खेती के लिए उपयुक्त होता है,

इस वजह से काली कपास मृदा भी कहा

जाता है ।

* महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में पाया जाता है ।

* केल्सियम कार्बोनेट, मैग्नेशियम, पोटाश और चूना

अधिक मात्रा में होता है

* फ़ास्फोरस का कमी होता है ।

c) लेटेराइट मृदा(laterite soil)

* महाराष्ट्र, ओडिशा, पश्चिम bangal में पाया जाता है ।

* चाय और कॉफी के उत्पादन के लिए उपयुक्त होता है ।

* तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश और केरला में लाल लेटेराइट मृदा

काजू के उत्पादन के उपयुक्त है ।

d) लाल मृदा(🔴red soil)

* छत्तीसगढ़, ओडिशा के क्षेत्र में पाया जाता है ।

* लौह कण की उपस्थिति के वजह से इसका रंग

लाल होता है ।

e) पीली मृदा(🟡 yellow soil)

f) वन मृदा(🌲forest soil)

* पर्वतीय और पहाड़ीय भाग में पाया

जाता है ।

* यह मृदा अम्लीय और कम ह्युमस वाला होता है ।

g) शुष्क मृदा(dry soil)

* लवणीय होता है ।

* राजस्थान में मुख्यतः पाया जाता है ।

6) मृदा अपरदन ( soil erosion):

मृदा का पानी के बहाव या वायु

के वजह से एक स्थान से दूसरे स्थान तक

चले जाने को मृदा अपरदन कहा जाता है ।

7) मृदा संरक्षण( soil conservation) :

* एक लाइन में पेड़ लगाया जाता है जिससे

वायु द्वारा मृदा अपरदन कम होता है ।

* फसलों के बीच में घास उगाने से अपरदन में

कमी आती है ।

* ढलान वाले इलाके में terrace farming

किया जाता है

ऑब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर

1) इनमें से कौन सा नवीकरणीय संसाधन है ?

a) कोयला

b) पवन ऊर्जा

C) पेट्रोलियम

d) लोहा
उत्तर- b
2) निम्न में से किस राज्य में काली मृदा मुख्य रूप
से पायी जाती है ?

a) राजस्थान

b) जम्मूकश्मीर

C) झारखंड

d) महाराष्ट्र
उत्तर- d

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर

1) मृदा संरक्षण का कुछ उपाय बताईये ?

2) संसाधन संरक्षण का क्या उपाय है ?

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर

1) मृदा और उसके प्रकार का वर्णन करें ?

2) संसाधन का वर्गीकरण परिभाषा और उदाहरण

सहित करें ।

[youtube https://www.youtube.com/watch?v=WvwIo4xGtBI]
chapter 1 संसाधन और विकास click here
chapter 2 वन और वन्यजीव संसाधन click here
chapter 3 जल संसाधन click here
chapter 4 कृषि click here
chapter 5 खनिज और ऊर्जा संसाधन click here
chapter 6 निर्माण उद्योग click here
chapter 7 राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखा click here

Keywords:

🔎matric geography chapter 1
resources and development

🔎geography class 10th

🔎10th geography resources and
development objective question answer in Hindi

🔎geography short question answer

🔎geography long question answer in Hindi

🔎मैट्रिक भूगोल संसाधन और विकास

✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌

🚨 बिहार बोर्ड दसवीं और बारहवीं

के लिए कम समय में बेहतर करने के लिए

Alok Official वेबसाइट के सभी पोस्ट

को देखें ।

Alok Official class 12th का भौतिकी,रसायनशास्त्र, हिन्दी, English,

जीवविज्ञान,गणित और दसवीं का विज्ञान

के लिए ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों

का तैयारी करवाता है । कम समय में

बेहतर तैयारी के लिए हमारे साथ जुड़ें रहें ।

यदि आपका कोई सगा-संबंधी दसवीं या

बारहवीं में पढ़ता हो तो उसके साथ

जरुर share करें ।

THANK YOU

✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌✌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Verified by MonsterInsights